ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल - युवा सक्षमता
January 20, 2020 • Yogita Mathur • BOLLYWOOD

 
जयपुरJaipur, 20 जनवरी । ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में आने वाले श्रोताओं में बड़ी संख्या में युवा शामिल होते हैं| पिछले एक दशक में तेजी से विकसित और विस्तृत हुआ फेस्टिवल अपने विविध सत्रों और फेस्टिवल से पूर्व अपने आउटरीच प्रोग्राम के माध्यम से अधिक से अधिक युवाओं को जोड़ने का प्रयास करता है| 
प्रत्येक वर्ग के बच्चों तक शिक्षा व ज्ञान पहुँचाने के उद्देश्य से, फेस्टिवल हर साल आउटरीच प्रोग्राम करता है, जिससे गाँव और छोटे शहरों में रहने वाले छात्र भी समाज में आ रहे बदलावों से अवगत हो सकें|    
फेस्टिवल युवाओं के प्रति इस जिम्मेदारी को समझता है और इसी को पूरा करने के लिए वो युवा एकता फाउंडेशन के साथ यूथ आउटरीच प्रोग्राम और प्रथम बुक्स के साथ मिलकर स्कूल आउटरीच प्रोग्राम का आयोजन करता है| इसके माध्यम से बच्चे और युवा फेस्टिवल के साथ अधिक सार्थक रूप से जुड़ पाते हैं| इस साल, युवा एकता फाउंडेशन कहानियों के माध्यम से अपना सन्देश पहुंचाएगा – साहस, बदलाव की वो कहानियां जिन्हें सुनते हुए हम बड़े हुए, और वो कहानियां जो अभी आप और हम मिलकर बना रहे हैं| 
कहानियों की रहस्यमयी दुनिया – द मिस्टीरियस वर्ल्ड ऑफ़ स्टोरीज, इस एक सप्ताह चलने वाले प्रोग्राम का केंद्र होगा| इसके माध्यम से श्रोता कहानी के मनोविज्ञान में उतरकर, उसके साथ अपना अनुभव, अपनी आवाज़ भी जोड़ेगा| जयश्री पेरीवाल इंटरनेशनल स्कूल, इस वर्कशॉप के वेन्यु पार्टनर के साथ मिलकर, युवा एकता फाउंडेशन राजस्थान और मध्य प्रदेश के 55 युवाओं के साथ मिलकर, समाज के सकरात्मक बदलावों को थियेटर और कला के माध्यम से प्रस्तुत करेंगे| इसकी प्रस्तुति जयपुर के कई स्कूलों में होगी और 26 जनवरी को ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के संवाद में 12:30 बजे होगी| 
प्रथम बुक्स एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो विविध भारतीय भाषाओँ में श्रेष्ठ किताबें लाने के लिए प्रतिबद्ध है| प्रथम बुक्स और टीमवर्क आर्ट्स के साझे प्रयास से आयोजित, स्कूल आउटरीच प्रोग्राम अपने चुनिन्दा वक्ताओं के साथ, विविध विषयों पर वक्ताएं करता है| पिछले 8 सालों में, प्रोग्राम ने अपने एक हज़ार से अधिक सत्रों के माध्यम से एक लाख से अधिक बच्चों से संवाद स्थापित किया है| ये समाज के विविध स्तरों के बच्चों तक पहुँचने की लगन का परिणाम है| अपने 9वें वर्ष में, स्कूल आउटरीच प्रोग्राम 8 दिनों में, 50 सत्रों के माध्यम से जयपुर और दिल्ली के स्कूलों तक पहुंचेगा|