ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
सदस्यता निरस्त करने का अधिकार दल के अध्यक्षों के पास हो 
December 19, 2019 • Yogita Mathur • NATIONAL
देहरादून    , 19 दिसम्बर। राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सी.पी जोशी ने कहा है कि दल-बदल करने वाले विधायकों की सदस्यता निरस्त करने का अधिकार दल के अध्यक्षों के पास चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्षों को दल बदल करने वाले विधायकों की सूचना चुनाव आयोग को देनी चाहिए, जिस पर चुनाव आयोग को निर्णय लेना होगा।
 
विधानसभा अध्यक्ष डॉ. जोशी गुरूवार को देहरादून में विधानसभाओं के पीठासीन अधिकारियों के दो दिवसीय सम्मेलन के समापन अवसर को सम्बोधित कर रहे थे।
 
डॉ. जोशी ने कहा कि विधानसभा के अध्यक्षों द्वारा लिये गए निर्णयों पर विभिन्न न्यायालयों द्वारा दिये गये निर्णयों के अध्ययन के आधार पर दसवीं अनुसूची के अनुरूप आचार संहिता बनाई जानी चाहिए। इस आदर्श आचार संहिता की सीमा में रहते हुए विधानसभाओं के अध्यक्षों को निर्णय लेना चाहिए।
 
समापन के मौके पर उत्तराखण्ड विधानसभा के अध्यक्ष  प्रेम चन्द अग्रवाल ने राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी को स्मृति चिन्ह भेंट किया। 
 
राजस्थानवासियों ने उत्तराखण्ड में किया स्वागत - 
 
देहरादून में निवास कर रहे राजस्थानवासियों ने गुरूवार को प्रातः लोकसभा अध्यक्ष  ओम बिरला और राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सी.पी.जोशी का भाव भीना अभिवादन किया। डॉ. जोशी ने कुल्हड़ की चाय का लुत्फ उठाया।