ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को  भेजा चैक
March 23, 2020 • Yogita Mathur • RAJASTHAN




     जयपुर, 23 मार्च। राज्यपाल  कलराज मिश्र ने प्रदेश में कोरोना वायरस से बचाव के प्रयासों के लिए अपना एक माह का वेतन दिया है ।

राज्यपाल ने राज्यपाल राहत कोष से भी बीस लाख रूपये की राशि राज्य सरकार के राजस्थान मुख्यमंत्री सहायता कोष के कोविड-19 के फण्ड में भेजी है । राज्यपाल मिश्र की इस पहल पर राजभवन के अधिकारियों और कर्मचारियों ने भी अपना एक दिन का वेतन कोरोना वायरस से बचाव के लिए देने का निर्णय लिया है ।

राज्यपाल  मिश्र कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश में किए जा रहे कार्यां की लगातार मोनिटरिंग कर रहे हैं ।  मिश्र ने सोमवार को प्रातः मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से दूरभाष पर वार्ता की । राज्यापाल ने मुख्यमंत्री से प्रदेश के हालात की जानकारी ली । राज्यपाल ने मुख्यमंत्री गहलोत को बताया कि उन्होंने अपना एक माह का वेतन राज्य सरकार के कोविड-19 कोष में देने का निर्णय लिया है । इसी के साथ राज्यपाल राहत कोष से भी बीस लाख रूपये की राशि का चैक राज्य सरकार को भेजा जा रहा है ।

राज्यपाल  मिश्र का एक माह का वेतन 3.50 लाख रूपये है । राजभवन के अधिकारियों व कर्मचारियों का एक दिन का वेतन 2.25 लाख रूपये है । राज्यपाल राहत कोष से 20 लाख रूपये दिए गए हैं । राज्यपाल मिश्र ने बताया कि कुल मिलाकर 25 लाख 75 हजार रूपये की राशि राजस्थान राज्य सरकार के राजस्थान मुख्यमंत्री सहायता कोष के कोविड-19 फण्ड में भेजा जा रहा है ।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने प्रदेश की स्वयं सेवी संस्थाओं और समर्थवान लोगों का आव्हान किया है कि वे प्रदेश के गरीब व असहाय लोगों की मदद के लिए आगे आयें । इस संकट की घड़ी में हर जरूरतमन्द की मदद का प्रयास करें । राज्य में कोरोना वायरस से बचाव के लिए किसी भी प्रकार की दवाई, भोजन और अन्य उपायों में कमी नही आनी चाहिए ।  

राज्यपाल  कलराज मिश्र ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि इस पुनीत कार्य में सहयोग के लिए आगे आयें । राज्यपाल ने बताया कि जो भी व्यक्ति इस कार्य में आर्थिक सहयोग देना चाहते है, वे राज्यपाल राहत कोष के नाम से चैक अथवा ड्राफ्ट के द्वारा योगदान दे सकते हैं ।

राज्यपाल ने केन्द्र व राज्य सरकार की कोरोना से लडने की रणनीति में प्रदेशवासियों से सहयोग करने की अपील की है।