ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
राज्य में किसानों की कर्ज माफी पूरे देश में एक मिसाल 
December 21, 2019 • Yogita Mathur • RAJASTHAN
जयपुर, 21 दिसंबर। सूचना एवं जनसंपर्क आयुक्त एवं सहकारिता विभाग के रजिस्ट्रार तथा चूरू जिला प्रभारी सचिव डॉ.नीरज के पवन ने कहा है कि निरोगी राजस्थान के रूप में सरकार ने एक महाभियान किया है, जो चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के साथ-साथ आमजन की स्वास्थ्य जागरुकता की दिशा में एक बड़ा कदम है। जरूरत इस बात की है कि हम निरोगी राजस्थान को चर्चा का विषय बनाएं तथा स्वास्थ्य विमर्श हर व्यक्ति की प्राथमिकता बने। 
 
डॉ. पवन शुक्रवार को चूरू जिला परिषद सभागार में आयोजित कार्यक्रम मे बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक सरकारी कार्यालय में वजन तोलने की मशीन लगाई जाएगी, जिससे लोग नियमित रूप से अपना वजन मापकर स्वास्थ्य के प्रति जागरुक रहें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक सरकारी पत्र पर जागरुकता के लिए निरोगी राजस्थान का संदेश अंकित किया जाएगा। 
 
उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग की ज्ञानसागर योजना की समीक्षा की जाएगी तथा जरूरत होने पर इसे रिफ्रेम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग ने लाखों किसानों को कर्ज माफी देकर लाभान्वित किया है तथा ऋण वितरण में बायोमैट्रिक सत्यापन से जोड़कर पारदर्शिता सुनिश्चित की है। ऋण वितरण में इस प्रकार की पारदर्शिता सुनिश्चित करने वाला राजस्थान प्रथम राज्य बना है। 
 
राजस्थान की कर्ज माफी पूरे देश में एक मिसाल बनी है तथा दूसरे प्रदेशों के दल ऋण माफी व ऋण वितरण की व्यवस्थाओं का अध्ययन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऋण माफी में किसी भी प्रकार की अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी और यदि किसी कर्मचारी का ऋण मिलीभगत या लापरवाही से माफ हुआ है तो उसके विभागाध्यक्ष के माध्यम से इसकी वसूली की जाएगी। भविष्य के लिए इतनी पारदर्शिता सुनिश्चित की जा रही है कि किसी प्रकार की गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले एक वर्ष के कार्यकाल में राज्य सरकार द्वारा अनेक जन हितैषी फैसले किए गए हैं, जिनका सीधा लाभ आमजन को मिल रहा है।