ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
कई समस्याओं का आसान हल
April 24, 2020 • Anil Mathur • RAJASTHAN

 जयपुर, 24 अप्रेल। वर्तमान में कोरोना लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भी मिलकर दफ्तर, स्कूल या प्रोजेक्ट का काम करने की चुनौती, बोरियत और ऎसे ही दूसरी समस्याओं के निवारण विकल्प के रूप में सामने आया है ।

सूचना एवे प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा विकसित किया गया Rajconect App, जिसके न केवल वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग मोडयूल फीचर को सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा बल्कि आम नागरिकों द्वारा भी उपयोग में लाया जा सकता है।

 इसके अलावा दर्जनों की संख्या में उपलब्ध मूवी देखने, गेम खेलने, न्यूज चैनल या टीवी देखने के लिए भी इस ऎप का उपयोेेग किया जा सकता है।

सूचना प्रोद्योगिकी एवं संचार विभाग, जिला कलक्टे्रट के उप निदेशक  ऋतेश कुमार शर्मा ने बताया कि इस लॉकडाउन काल में कई विद्यालयों एवं ट्यूशन शिक्षकों द्वारा विभिन्न प्लेटफार्म का उपयोग कर ऑनलाइन क्लासेज भी चालू की गई हैं। 

इनमें से कई प्लेटफार्म अथवा ऎप सुरक्षित नहीं है। जैसा कि चाइना में विकसित जूम एप के बारे में गृह मंत्रालय द्वारा एडवाइजरी भी जारी की गई है। दूसरी ओर Rajconect App सूचना प्रोद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा विकसित किए जाने के कारण सुरक्षित है।

 शर्मा ने बताया कि इस ऎप जरिए वीडियो कॉन्फें्रन्सिंग मोबाइल एवं डेस्कटॉप दोनों माध्यमों से की जा सकती है। हालांकि अभी इस एप के जरिए आम नागरिक एक सीमित संख्या में ही वीडियो कांफे्रंसिग का लाभ ले सकते हैं लेकिन यह सुरक्षित है। दूसरी ओर सौ से ज्यादा अधिकारी-कर्मचारी इसके जरिए एक साथ वीडियो कांफे्रंस में कनेक्ट हो सकते हैं। 

 शर्मा ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न स्थितियों से मुकाबले के लिए किये जा रहे विभिन्न प्रयासों के तहत सूचना प्रोद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा इस ऎप को  विकसित किया गया है। इस एप के उपयोग द्वारा कई प्रकार की सूचनाओं का एकत्रण व संधारण भी किया जा सकता है। जिससे सूचनाओं के त्वरित विश्लेषण द्वारा एक्शन प्लान निर्धारित करने में बहुत सहायता मिल सकती है। 

 इस एप को आम नागरिकों, बीएलओ, ईमित्रा संचालकों, सरकारी अधिकारि-कर्मचारियों के साथ ही कोविड-19 के कारण होम क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों द्वारा भी उपयोग किया जा सकता है।