ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
बैंकिंग सेवा - श्रीमती इंदिरा गांधी का बड़ा योगदान ः मुख्यमंत्री
December 21, 2019 • Yogita Mathur • BUSINESS
जयपुर, 21 दिसम्बर। मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत ने कहा कि  देश में बैंकिंग सेवाओं को आमजन तक पहुंचाने में पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी का बड़ा योगदान था। उन्होंने बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर वित्तीय समावेशन की दिशा में ऎसा क्रांतिकारी कदम उठाया, जिससे गांव-गांंव तक बैंकिंग सेवाओं का विस्तार हो सका।
 
गहलोत शुक्रवार को एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक के राजस्थान रीजनल कार्यालय एवं ब्रांच के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक समय था, जब बैंकिंग सेवाएं केवल पूंजीपतियों की पहुंच में ही थी। आमजन के लिए बैंक में खाता खुलवाना और ऋण लेना एक सपने जैसा था। उस दौर में श्रीमती इंदिरा गांधी ने एक साथ 14 बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर यह धारणा बदली।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बैंकों में सात दिनों में होने वाला काम अब कुछ मिनटों में हो जाता है। हर हाथ में मोबाइल और इंटरनेट है, जिसके माध्यम से बैंकिंग सेवाएं घर-घर तक पहुंच गई हैं। यह पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी की देन है। उन्होंने देश को 21वीं सदी में ले जाने का जो सपना देखा था, सूचना क्रांति के माध्यम से आज वो सपना साकार हुआ है।
 
 गहलोत ने देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा कि लोगों की क्रय शक्ति कम हो रही है, रोजगार के अवसर घट रहे हैं और कई क्षेत्रों में उत्पादन पर असर पड़ा है। ऎसे कदम उठाने की जरूरत है, जिससे अर्थव्यवस्था पुनः पटरी पर लौटे।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार जनहित में एक ऎसा कानून लाने पर विचार कर रही है, जिससे आम जनता की गाढ़ी कमाई को हड़पने वाली चिटफण्ड कंपनियों एवं क्रेडिट कोपरेटिव सोसाइटियों पर लगाम लगाई जा सके और जनता का पैसा सुरक्षित हो सके।  गहलोत ने बैंक की ओर से ग्राहकों को स्वरोजगार के लिए लोन के चैक वितरित किए। साथ ही कौशल विकास का प्रशिक्षण लेने वाले युवाओं को सर्टिफिकेट प्रदान किए।
 
इससे पहले एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक के प्रबन्ध निदेशक  संजय अग्रवाल ने कहा कि राजस्थान से अपनी शुरूआत करने वाला एयू स्मॉल बैंक देश के 11 राज्यों में वित्तीय सेवाएं प्रदान कर रहा है। इस अवसर पर बैंकिंग क्षेत्र से जुड़अ लोग तथा बैंक के कार्मिक उपस्थित थे।