ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
बानसूर में खोले गये तीन पशु उपकेन्द्र
February 14, 2020 • Yogita Mathur • RAJASTHAN
 
 
जयपुर, 14 फरवरी। पशुपालन मंत्री  लाल चन्द कटारिया ने शुक्रवार को विधानसभा में बताया कि अलवर जिले के बानसूर में पशुधन बाहुल्य को देखते हुए तीन पशु उपकेन्द्र खोले गये हैं। इसके अतिरिक्त 1 लाख 73 हजार पशुओं के टीकाकरण का कार्य भी किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा एक विधानसभा क्षेत्र में दो पशु उपकेन्द्र खोले जाने का प्रावधान है।
 
 कटारिया प्रश्न काल में विधायकों द्वारा इस संबंध में पूछे गये पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने  कहा कि इस वर्ष राज्य में चार सौ पशु उपकेन्द्र खोले जाने के लक्ष्य के विरूद्ध 250 उपकेन्द्र खोले जा चुके हैं। इन केन्द्रों पर 186 व्यक्तियों को पदस्थापित भी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अगले वर्ष भी 400 पशु उपकेन्द्र खोला जाना प्रस्तावित है। श्री कटारिया ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा 3 हजार पशुओं की संख्या पर एक पशु उपकेन्द्र खोलने का मापदण्ड निर्धारित किया गया है। 
 
इससे पहले  कटारिया ने प्रश्न काल में विधायक श्रीमती शकुन्तला रावत के मूल प्रश्न का जवाब देते हुए बताया कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र में पशु चिकित्सा उपकेन्द्र खोलने के निर्धारित मापदंड अनुसार ग्राम पंचायत मुख्यालय तथा इसके राजस्व ग्रामों में पूर्व में जहां पशु चिकित्सा संस्था स्वीकृत नहीं है एवं न्यूनतम 3000 पशुधन उपलब्ध हैं, वहां नया पशु चिकित्सा उपकेन्द्र  खोले जा सकते हैं।
 
उन्होंने बताया कि पशु चिकित्सा संस्थायें आवश्यकता एवं वित्तीय संसाधनों की उपलब्ध्ता अनुसार खोली जाती हैं। पशुपालन विभाग द्वारा पशुओं में समय-समय पर फैलने वाली मौसमी बीमारियों की रोकथाम एवं बीमार पशुओं के उपचार के लिए पशु चिकित्सा संस्थाओं के माध्यम से निःशुल्क टीकाकरण एवं चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है।
 
उन्होंने बताया कि जिन ग्राम पंचायतों में वर्तमान में पशु चिकित्सा संस्था स्वीकृत नहीं है या अक्रियाशील हैं, वहां आवश्कतानुसार नजदीक के चिकित्सालय पशुधन आरोग्य चल इकाईयों  द्वारा पशु चिकित्सा शिविर आयोजित कर निःशुल्क पशु चिकित्सा एवं टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है।