ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
अमेरिका में छत्तीसगढ़ को मिली ‘ग्रोइंग ट्राइबल स्टेट‘की पहचान
February 27, 2020 • Yogita Mathur • RAJASTHAN


    रायपुर, 27 फरवरी । मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल की 10 दिवसीय अमेरिकी यात्रा के दौरानग्रामीण आर्थिक मॉडल को अमेरिका मेंखूब सराहा गया।मुख्यमंत्री के इस दौरे ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ को ‘ग्रोइंग ट्राइबल स्टेट‘ के रूप में नई पहचान मिली है।

 छत्तीसगढ़ में ग्रामीण आर्थिक माडल के जरिए वैश्विक मंदी के बावजूद सतत विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में उल्लेखनीय प्रगति हुई। इसे हार्वर्ड विष्वविद्यालय के अमेरिकी विद्वानों की सराहना मिली। 

 बघेल छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री हैंे जिन्होंने हार्वर्ड विश्वविद्यालय में व्याख्यान दिया। नोबल अर्थशास्त्री प्रो. अभिजीत बनर्जी से मुख्यमंत्री की सौजन्य मुलाकात में श्री बनर्जी ने भी छत्तीसगढ़ में समावेशी विकास के लिए उठाये गए कदमों की खुले दिल से तारीफ की।

     मुख्यमंत्री  बघेल अमेरिकी प्रवास के दौरान एमआईटी स्लोन स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, सेन फ्रांसिस्को में ज्प्म् सिलिकॉन वेली के कार्यक्रम सहित अन्य कई मंचों पर छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों को साझा किया। 

 बघेल विश्व की सबसे बड़ी पंचायत संयुक्त राष्ट्र संघ की जनरल असेम्बली भी पहुंचे और वहां की कार्यप्रणाली जानी। ग्लोबल इन्वेस्टर्स और औद्योगिक प्रतिनिधियों से मिल कर श्री बघेल ने उन्हें बताया कि नई औद्योगिक नीति के तहत राज्य को इन्वेस्टमेंट हब के रूप में विकसित किया जा रहा है।

    सेन फ्रांसिस्को में  भूपेश बघेल ने इंडिया कम्युनिटी सेंटर, सेनजोस में ज्प्म् सिलिकॉन वेली द्वारा आयोजित सम्मेलन में भारतीय समुदाय को सम्बोधित किया और नाचा (नॉर्थ अमेरिका छत्तीसगढ़ एसोसिएशन) के सदस्यों से भी मुलाकात कर लगभग 250 निवेशकों को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ में हर दृष्टि सेनिवेष फायदेमंद है।   
 अपनी अमेरिका यात्रा के दौरानमुख्यमंत्री ने दुनिया की सबसे बड़ी डेटा सेंटर कंपनी-इक्विनिक्स का भ्रमण किया तथा वे सिलिकॉन वेली और रेड वुड शोर्स में ऑटो ग्रिड सिस्टम के औद्योगिक प्रतिनिधियों और निवेशकों से चर्चा में षामिल हुए जहां उन्होंने छत्तीसगढ़ में कोर सेक्टर, आईटी, फूड प्रोसेसिंग, जैव-विविधता सहित अनेक क्षेत्रों में निवेश की ओर ध्यान आकर्षित किया ।

  भूपेश बघेल हार्वर्ड विश्वविद्यालय के भारत सम्मेलन में ‘लोकतान्त्रिक भारत में जाति और राजनीति’ विषय पर आयोजित चर्चा में शामिल हुए।उन्होंने हार्वर्ड के स्टूडेंट्स को विशेषकर नरवा, गरवा घुरवा और बाड़ी योजना के विषय में विस्तृत जानकारी दी और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में सुधार के साथ ही कृषि विकास पर सुझाव दिए। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में हुये अभिनवकारी प्रयोग पर शोध हेतु जल्द ही हार्वर्ड विश्वविद्यालय का एक दल छत्तीसगढ़ का दौरा करेगा। मुख्यमंत्री  बघेल को अगली बार भी हार्वर्ड विष्वविद्यालय में व्याख्यान के लिए आमंत्रित किया गया । इस अवसर पर वहां के स्टूडेंटस ने मुख्यमंत्री से राज्य से हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट स्पांसर करने कई मांग भी रखी।