ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
 पंजाब में 14 अप्रैल के बाद क्फर्यू को और आगे बढ़ाने की रिपोर्टों को रद्द किया
April 8, 2020 • Yogita Mathur • STATE

 

चंडीगढ़,Chandigarh 8 अप्रैल: मीडिया में आईं रिपोर्टों को रद्द करते हुए Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को यह स्पष्ट किया कि राज्य में 14 अप्रैल के बाद क्फर्यू को और आगे बढ़ाने का अभी तक कोई फ़ैसला नहीं लिया गया।

ऐसी रिपोर्टों एवं अनुमानों को बेबुनियाद करार देते हुए मुख्यमंत्री ने स्पष्ट तौर पर कहा कि राज्य सरकार ने इस मामले में अभी तक कोई फ़ैसला नहीं लिया। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्धी कोई भी फ़ैसला 10 अप्रैल को रखी गई पंजाब मंत्रीमंडल की मीटिंग के बाद लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने साफ़ किया कि क्फर्यू को और आगे बढ़ाने के यह अनुमान आम राज्य प्रबंधन विभाग द्वारा मौजूदा समय में पैदा हुई स्थिति के चलते सरकारी मुलाजि़मों को जारी सलाहकारी के बाद शुरू हो गई थी। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उनकी हिदायतों पर मुख्य सचिव ने यह सलाहकारी तुरंत वापस ले ली थी।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सारी स्थिति का निरंतर मूल्यांकन और समीक्षा की जा रही है जो कि रोज़ाना बदल रही है और कोई भी फ़ैसला राज्य और लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए अप्रैल के मध्य में होने वाली स्थितियों के संदर्भ में लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हालाँकि पंजाब में महामारी अभी तक नियंत्रण में है, परन्तु लगातार बदलते हालातों को देखते हुए इस समय भविष्य के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता, उन्होंने आगे कहा कि कफ्र्यू ख़त्म करने या आंशिक तौर पर ख़त्म करने सम्बन्धी फ़ैसला लेने से पहले सभी कारकों को ध्यान में रखा जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम न सिफऱ् पंजाब, बल्कि पूरे देश की स्थिति पर गहराई से विचार कर रहे हैं। हम अन्य देशों की इस महामारी सम्बन्धी स्थिति का भी ध्यान रख रहे हैं जिससे हम उनके अनुभवों को जानकर उनके मुताबिक काम कर सकें।’’

उन्होंने कहा कि भारत द्वारा अपनाई गई नीति ने बहुत मदद की, हालाँकि विकसित देशों की अपेक्षा हालात बहुत बेहतर थे, परन्तु इससे संतुष्ट नहीं हुआ जा सकता क्योंकि अगले आने वाले कुछ दिन मुश्किलों भरे हो सकते हैं, सो इन हलातों के मद्देनजऱ ही आगे फ़ैसला लिया जाएगा। उन्होंने दोहराया कि इस समय लोगों की जान बचाना उनकी सरकार की प्राथमिकता है और लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए ही फ़ैसला लिया जाएगा क्योंकि अभी कहा नहीं जा सकता कि आने वाले दिनों में राज्य में महामारी का रूप कैसा होगा।

जि़क्र योग्य है कि प्रधानमंत्री ने 21 दिनों के देशव्यापी तालाबन्दी का ऐलान करने से एक दिन पहले ही पंजाब सरकार ने 23 मार्च को राज्य भर में क्फर्यू लागू कर दिया था।