ALL NATIONAL WORLD RAJASTHAN POLITICS HEALTH BOLLYWOOD DHARMA KARMA SPORTS BUSINESS STATE
 कीटाणुनाशक विकसित किया
April 4, 2020 • Yogita Mathur • NATIONAL

नई दिल्ली New Delhi , 4 अप्रेल  कोलाइडल चांदी बनाने की प्रक्रिया के लिए एक भारतीय पेटेंट दायर किया गया,  और हैंड सैनिटाइजर तथा कीटाणुनाशक बनाने के लिए एक परीक्षण लाइसेंस प्रदान किया गया

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) और जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी) द्वारा संयुक्त रूप से समर्थित पुणे के एक स्टार्टअप वेइनोवेट बायोसोल्यूशंस ने अल्कोहल के बिना जलीय-आधारित कोलाइडल चांदी सोल्‍यूशन तैयार किया है जिसे हाथों और पर्यावरणीय सतहों को कीटाणुरहित करने के लिए नैनोएगसाइड टेक्‍नोलॉजी से बनाया गया है।

यह तरल गैर-ज्वलनशील और खतरनाक रसायनों से मुक्त है और महामारी के ट्रांसमिशन की प्रमुख विधि–सम्‍पर्क से होने वाले संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए एक प्रभावी सैनिटाइजर हो सकता है, जिससे स्वास्थ्य पेशेवरों और अन्य संक्रमित लोगों की रक्षा हो सकती है।

वाइनोवेट बायोसोल्यूशंस का कोलाइडल सिल्वर सॉल्यूशन, जो वायरल नेगेटिव-स्ट्रैंड आरएनए और वायरल बडिंग के संश्लेषण को रोकने के लिए सिल्वर नैनोपार्टिकल्स की क्षमता पर आधारित है, खतरनाक रसायनों से मुक्त है और इसमें अल्कोहल-आधारित कीटाणुनाशकों की तुलना में ज्‍वलनशीलता का कोई खतरा नहीं है।

इस सॉल्यूशन का प्रयोगशाला परीक्षण हुआ है, और निर्माताओं ने परीक्षण लाइसेंस प्राप्त कर लिया है। छोटे पैमाने पर कोलाइडल सिल्वर को संश्लेषित करने और 5 लीटर तक के स्केल-अप बैच पर प्रारंभिक कार्य दोबारा तैयार करने के लिए किया जा रहा है।

वाइनोवेट बायोसोल्‍यूशंस के संस्‍थापकों में से एक डॉ. मिलिंद चौधरी ने कहा, “हम हैंड सैनिटाइजेशन और कीटाणुशोधन की मांग को पूरा करने के लिए हमारी निर्माण व्‍यवस्‍था के साथ प्रति दिन मुख्य रूप से 200 लीटर कोलाइडल चांदी के घोल का निर्माण करने का लक्ष्य बना रहे हैं। हमारे सॉल्‍यूशन के साथ, हम संक्रमण फैलने की संख्या को कम करने और भारत को संक्रमण मुक्त बनाने में मदद कर सकते हैं।”